Home & Corporate Loans to get cheaper after Banks cut base rates

Home & Corporate Loans to get cheaper after Banks cut base rates

banksएक के बाद एक निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (Banks) द्वारा एमसीएलआर में कटौती करने के फैसले के बाद लोने पर ब्याज दरों में कटौती हुई है. इससे आम लोगों के लिए होम लोन, कार लोन और अन्य कर्ज सस्ते होने का रास्ता खुल गया है. इसका सीधा सा असर आपकी ईएमआई पर भी पड़ेगा जो कम हो सकती है.

एसबीआई (SBI), पंजाब नेशनल बैंक (PNB), यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (UBI), देना बैंक और निजी क्षेत्र के प्रमुख बैंक आईसीआईसीआई बैंक (ICICI) के ने भी लोन की ब्याज दरों में कटौती कर दी है. ICICI बैंक ने 0.70 फीसदी की कटौती की है. ICICI बैंक के अलावा कोटक महिंद्रा बैंक, देना बैंक, बंधन बैंक, आंध्रा बैंक और ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स ने अपनी एमसीएलआर में कटौती की है.

ICICI बैंक ने कहा कि उसने एक साल की एमसीएलआर दर को 0.70 फीसदी घटाकर 8.20 फीसदी कर दिया है. वहीं एसबीआई ने भी एक साल की एमसीएलआर दर को 8.90% से घटाकर 8% कर दिया है.

banks

नोटबंदी के बाद नकदी जमा में वृद्धि के बाद बैंकों के इस कदम से मकान, गाड़ी और कंपनी कर्ज सस्ता होगा. ब्याज दर में कटौती से कर्ज की मांग बढ़ेगी. कोटक महिंद्रा बैंक ने एक बयान में कहा कि बैंक ने एक साल की अवधि के लिसे एमसीएलआर 0.20 प्रतिशत घटाकर नौ प्रतिशत कर दिया है जो पहले 9.20 प्रतिशत था. यहां एक बात बताते चलें, होम लोन रेट कम होने पर आमतौर पर बैंक मौजूदा लोन कस्टमर की मासिक ईएमआई की राशि में कटौती नहीं करते बल्कि उसका कुल टेन्योर कम कर दिया जाता है.

हालांकि तीन महीने की अवधि के लिये एमसीएलआर कम कर 0.45 प्रतिशत घटाकर 8.40 प्रतिशत कर दिया गया है जबकि दो से तीन साल के के कर्ज के लिये ब्याज दर 9.25 प्रतिशत से कम कर 9.0 प्रतिशत कर दिया गया है. वहीं नए बैंक बंधन बैंक ने एमसीएलआर 1.48 प्रतिशत कम कर 10.52 प्रतिशत कर दिया है. नई दर आज से प्रभावी होगी. ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स ने एक साल के एमसीएलआर 0.8 प्रतिशत कम कर 8.60 प्रतिशत कर दिया जबकि आंध्रा बैंक ने इतनी ही कमी कर इसे 8.65 प्रतिशत कर दिया.

एनडीटीवी से बातचीत में एसबीआई (नेशनल बैकिंग) के मैनेजिंग डायरेक्टर रजनीश कुमार ने सोमवार को कहा, एसबीआई के होम लोन, 30 लाख रुपए तक के, पर ब्याज दरें 8.5% की गई हैं. अगले छह महीने तक ब्याज दरों में इजाफा करने को लेकर कोई दबाव नहीं है. उन्होंने कहा कि विमुद्रीकरण के बाद 10 नवंबर से लोन (बुक) में ग्रोथ नहीं दिखी. बैंक का लक्ष्य है कि Q4 में लोन ग्रोथ लाई जाए. उन्होंने कहा कि एमसीएलआर में कटौती के चलते कर्ज की मांग में बढ़ोतरी पैदा करने की कोशिश की जा रही है. निकट भविष्य में इसके और कम किए जाने के आसार नहीं दिखते.

बैंकों से गरीबों और निम्न-मध्यम वर्ग को कर्ज लेने के मामले में सहायता देने को प्राथमिकता देने के पीएम नरेंद्र मोदी के अनुरोध के बाद बैंकों ने कर्ज की दरों में कटौती की है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बैंक होम और कार लोन की दरें तय करने के लिए एक साल का बेंचमार्क तय करते हैं. वे रीटेल लोन तय करने के लिए एमसीएलआर के ऊपर मार्जिन तय करते हैं जोकि सीधे सीधे लोन की ब्याज दरें निर्धारित करने से लिंक होता है. एसबीआई ने जो बेंचमार्क रेट तय किया है वह 2011 के बाद से सबसे कम है. एक नजर से देखें तो एसबीआई ने बेंचमार्क लेंडिग रेट में जो कटौती की है वह 2015 के बाद से कुल मिलाकर 200 बेसिस पॉइंट्स की है.

English Version

Housing, auto and corporate loans are all set to become cheaper with half a dozen PSU and private banks on Monday steeply reducing benchmark lending rate by up to 1.48 per cent after spurt in deposits following demonetisation.

Taking a cue from State Bank of India, other lenders including largest private sector lender ICICI Bank and state-owned Oriental Bank of Commerce and Andhra Bank announced cut in marginal cost of funds based lending rate (MCLR).

SBI on Sunday reduced the lending rate by a good 0.9 per cent after Prime Minister Narendra Modi in his new year eve address urged the banks to focus on the needs of poor and lower middle class and middle class.

The reduction in lending rates may prompt increase in credit offtake which has moderated substantially putting burden on balance sheet of banks.

Home loan rate for ICICI Bank will come down between 0.45 and 0.6 per cent depending on quantum and category.

Another private sector Kotak Mahindra Bank too reduced the MCLR rate by up to 0.45 per cent.

The bank has reduced MCLR by 0.20 per cent to 9 per cent from 9.20 per cent for 1-year tenor, Kotak Mahindra Bank said in a statement.

On Sunday, the country’s largest lender SBI along with PNB and Union Bank of India, slashed lending rates by up to 0.9 per cent.

Comments
Loading...