Central Government Employment News, 7th Pay Commission, MACP, LTC, CGHS, Railways, Bank News, CPSE, NPS, Pension, DOPT and More

Facilities Covered Under the IRCTC Passenger Travel Insurance

Facilities Covered Under the IRCTC Passenger Travel Insurance

travel insuranceRecently Indian Railway started the facility of providing travel insurance to it’s passengers. Let us see the features, benefits and how to buy the Indian Railway’s Rs.10 Lakh Travel Insurance online.

This facility is available only to Indian Citizens. Hence, citizens of foreign countries are not eligible. This travel insurance is not available for the kids aged below 5 years of age.This facility is available only when you book tickets online.

This travel insurance is optional. Hence, you are free to opt it while booking tickets. However, if you opted this travel insurance, then it will be compulsory for all passengers booked under the single PNR.The Premium is Rs.0.92 (Means 92 paise) per passenger (inclusive of all taxes).

Once you buy this travel insurance, then the passengers will receive the policy information through SMS and on their registered email IDs directly from Insurance Companies along with the link for filling nomination details. However, Policy number can be viewed from Ticket booked history at IRCTC Page. Once you book the ticket, the nomination details to be filled at respective Insurance Company site. If nomination details are not filled, then the settlement will be made with legal heirs, if the claim arises.

The scheme offers travelers or their families compensation of up to Rs 10 lakh in the event of death or permanent total disability, Rs 7.5 lakh for permanent partial disability, up to Rs 2 lakh for hospitalization expenses and Rs 10,000 for transportation of mortal remains in the event of death or injury from a train accident or other ‘untoward incident’ including terrorist attacks, dacoity, rioting, shoot-out or arson, as well as for short termination, diverted route and Vikalp trains. Train accident and untoward incident cases will be as per definition under Sections 123 read with Sections 124 and 124A of the Railways Act, 1989.

The claims intimation should be immediate but not later than four months after the event. The insurance company will process the claim and send the cheque within 15 days of the receipt of document.

In case of cancellation of tickets, IRCTC will make an automatic refund of the premium amount after deduction of administrative charges to the passenger on the same account that was used to book the ticket.

We at gconnect team feel, 92 paisa is not a big deal. Hence, gconnect suggests, all of Indian Railway travelers to chose this option and get the benefit of Indian Railway’s Rs.10 Lakh travel insurance.

Hindi Version

भारतीय रेलवे दुनिया के सबसे बड़े रेल नेटवर्क्स में से एक है। आज (28 दिसंबर 2016) को कानपुर में सुबह 6 बजे के करीब अजमेर-सियालदाह ट्रेन के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए। बीते एक महीने मे यह दूसरा सबसे बड़ा रेल हासदा है। इससे पहले कानपुर में ही पटना-इंदौर एक्सप्रेस भी एक दुर्घटना का शिकार हुई थी जिसमें 140 से ज्यादा लोग मारे गए थे। रेलवे में ऐसे हादसों का बार-बार होना बहुत चिंताजनक है। ऐसी स्थिति में आपका रेल यात्रा बीमा होगा जरूरी है। जानते हैं आईआरसीटीसी के यात्री बीमा योजना के बारे में।

कैसे होगा आईआरसीटीसी के जरिए बीमा ?

आईआरसीटीसी का बीमा (IRCTC Passenger Travel Insurance) आप वेबसाइट से टिकट बुक करते समय ले सकते हैं। टिकट बुक करते समय आपके सामने बीमा लेने का विकल्प आएगा। इसे सिलेक्ट करते ही आपके टिकट के दाम के अलावा 92 पैसे ज्यादा कटेंगे और आपका रेल यात्रा बीमा हो जाएगा। यह सुविधा 5 साल से कम उम्र के बच्चों को नहीं मिल पाएगी और न ही विदेशी नागरिकों को।

क्या कवर केरगा यह बीमा योजना ?

रेल यात्रा बीमा आपको रेल यात्रा के दौरान हुए हादसों के लिए भुगतान करेगा। इसमें 2 ट्रेनों के बीच टक्कर होने, ट्रेन के पटरी से उतरने जैसे हादसे शामिल हैं। हादसा होने की स्थिति में पैसेंजर या नॉमिनी (पॉलिसी हॉल्डर की मृत्यु होने पर) क्लेम कर सकता है। इसमें मृत्यु, गंभीर चोट की वजह से विकलांग होने और अस्पताल में इलाज होने जैसी स्थितियों में बीमा की रकम के लिए क्लेम किया जा सकेगा। क्लेम के लिए पीएनआर नंबर का होना भी जरूरी होगा।

क्या हैं फायदे ?

यात्री की मृत्यु होने या परमनेंट डिसबिलिटी होने की स्थिति में बीमा की गई रकम का 100% भुगतान दुर्घटना होने की तारीख से 12 महीनों के अंदर किया जाएगा। वहीं बीमा रकम का 75% गंभीर रुप से चोटिल होने और 20% भुगतान अस्पताल के खर्च या मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए किया जाएगा। वहीं ट्रेन हादसे भी रेलवे ऐक्ट (1989) के तहत डिफाइन किए गए हैं। ऐक्ट के सेक्शन 123, 124, 124A में इनकी विस्तार से जानकारी दी गई है।

नॉमिनी कब कर सकते हैं क्लेम ?

दुर्घटना के बाद रकम पाने के लिए नॉमिनी को हादसे के 4 महीने के अंदर बीमा कंपनियों से क्लेम लेना होगा। क्लेम एनईएफटी के जरिए दिए जाएंगे। इसके अलावा क्लेम लेने के लिए नॉमिनी को सभी जरूरी दस्तावेज भी जमा कराने होंगे। अभी सिर्फ तीन कंपनियां ही रेल यात्रा बीमा की सुविधा दे रही हैं। इनमें आईसीआईसीआई लोंबार्ड, रॉयल सुंदरम जनरल इंश्योरेंस और श्रीराम जनरल इंश्योरेंस शामिल हैं। वहीं वेबसाइट पर इंश्योरेंस लेते समय नॉमिनी की डिटेल्स भरना न भूलें।

Tamil Version

ரயில்களில் ஆன்லைன் மூலம் முன்பதிவு செய்யும் பயணிகளுக்காக 92 பைசாவில் பயணக் காப்பீடுத் திட்டமானது, வரும் 31ம் தேதி முதல் அமலுக்கு வருகிறது. ஆன்லைன் டிக்கெட் முன்பதிவில், விருப்பத் தேர்வாக இருக்கும் இந்த பயணக் காப்பீடு திட்டத்திற்கு, பயணிகள் விரும்பினால், கட்டணத்துடன் கூடுதலாக 92 பைசா செலுத்தி பயணக் காப்பீடு எடுத்துக் கொள்ளலாம்.

இத்திட்டத்தின் படி, ரயில் விபத்து அல்லது பயங்கரவாதத் தாக்குதலில் பயணக் காப்பீடு எடுத்துள்ள பயணிகள் பலியானாலோ அல்லது முழுமையாக செயல்படாத அளவுக்கு ஊனமடைந்தாலோ அவர்களின் குடும்பத்தினருக்கு ரூ.10 லட்சம் இழப்பீடு வழங்கப்படும். அதேபோல் உடல் உறுப்புகளை இழப்பவர்களுக்கு ரூ.7.5 லட்சமும், காயமடைந்தவர்களின் மருத்துவச் செலவுக்கு ரூ.2 லட்சம் வரையும் வழங்கப்படும்.

இத்திட்டம் 5 வயதிற்கு கீழ் உள்ள குழந்தைகளுக்கும், வெளிநாட்டினருக்கும், புறநகர் ரயில்களில் பயணிப்பவர்களும் பொருந்தாது. மேலும் முன்பதிவு டிக்கெட்டை ரத்து செய்தால் பயணக் காப்பீட்டுத் தொகை திருப்பி அளிக்கப்படமாட்டாது.

Comments
Loading...
;